Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

फ़ैदा चक गयी Faida Chak Gayi – Garry Sandhu

Faida Chak Gayi lyrics in Hindi sung by Garry Sandhu. This Punjabi Song is written by Mani Kakra and music composed by Lovey Akhtar. Music label Fresh Media Records.


Song Title: Faida Chak Gayi
Singer: Garry Sandhu
Music: Lovey Akhtar
Lyrics: Mani Kakra
Music Label: Fresh Media Records

Faida Chak Gayi Lyrics in Hindi

मैं केहा
प्यार प्यार मेरे बस दी गल नहीं
कहंदी एक वार करके तां देख
मैं केहा मैं बंद बड़ा ग़लत आं
मैनू जर्रना बड़ा औखा
मर जानी कहंदी
मैं जर्र लाँगी
मैं केहा फिर केहा ओहनु
मैं केहा रहंदे यार शद किते कहंदी
एक वारी अखाँ’च अखाँ तां
पाके देख लई कट्टेया
ते मैं पा लिया फिर
फिर आसान नू प्यार हो गया जी
फेर की होना सी
जहदी ग़ल्ल दा डर सी ओही हो गयी
गैरी सांधु फिर माहड़ा
चलो कोई ग़ल्ल नहीं
जीथे एंनियाँ बदनामियाँ
एक बदनामी होर सही
वैसे भी ज़िंदगी बड़ी छोटी है
मैं बेफ़िकरां जहा हो गया सी
नी दिल तेरे नाल लाके
मैं रिश्ते भी सब भुल्ल गया सी
तेनू अपना बना के
मैनू अपना तू केह्के
तन मन मेरा लईके
मैनू अपना तू केह्के
तन मन मेरा लईके
नी तू छेती अक्क गयी
हाये छेटि अक्क गयी
हाये छेटि अक्क गयी
मेरे तू प्यारां दा
कित्ते ऐतबारां दा
हाये फ़ैदा चक्क गयी
फ़ैदा चक गयी
नी मैं फ़ैसले ज़िंदगी दे
तेरे हक़ विच छड्डी बैठा सी
साफ़ दिल सिगा शीशे वर्गा
सारे शक्क वी मैं काटी बैठा सी
तू रब दा भेस बना के
भेद दिलान दे पाके
रब दा भेस बना के
भेद दिलां दे पाके
अज़मा सारे लक गयी
अज़मा लक गयी
मेरे तू प्यारां दा
कित्ते ऐतबारां दा
हाये फ़ैदा चक्क गयी
फ़ैदा चक गयी
हमम्म..
पैरां ठल्ले ज़िंदगी नू रोल के
जाके लग गयी ऐं आप किनारे
पैरां तल्ले ज़िंदगी नू रोल के
जाके लग गयी ऐं आप किनारे
मनी ककरा दा फ़ील हूँ कल्ला करदा
हर शहद वोचों लभड़ा सहारे
हो मैनू लाके झूठा लारा
हूँ कहंदी गैरी माहड़ा
मैनू लाके झूठा लारा
हूँ केंहदि संधु माहड़ा
कर सपने फूँक गयी
हाए सपने फूँक गयी
मेरे तू प्यारां दा
कित्ते ऐतबारां दा
हाए फ़ैदा चक गयी
फ़ैदा चक गयी
फ़ैदा चक गयी
फ़ैदा चक गयी
लोवे अख़्तर हो हो हे..हे..
More Songs (Punjabi Hits):
तू बंदा बन जा Banda Ban Ja
इक तेरा Ik Tera
पछताओगे Pachtaoge
रुका हूँ Ruka Hoon
पागल Ladki Paagal Hai
पराड़ा Prada
लहंगा Lehanga
ज़िंदा Zinda
Music Video of Faida Chak Gayi:

Post a Comment

0 Comments